गायिका लता मंगेशकर की मौत के साथ संगीत क्षेत्र को न पूरा होने वाला घाटा हुआ : मनजिन्दर तनेजा

फाजिल्का- अलग अलग भाषाओं में हजारों गीत गाने वाली संसार भर में प्रसिद्ध गायिका लता मंगेशकर की मौत के साथ संगीत के क्षेत्र को न पूरा होने वाला घाटा पड़ा है। उन की मौत पर तनेजा संगीत कला केंद्र फाजिल्का के संचालक संगीतकार मनजिन्दर तनेजा, दमदार आवाज निर्मल सिद्धू, उस्ताद कृष्ण शांत, गजल सम्राट डा विजय प्रवीण, संगीत अध्यापक बलदेव शर्मा, संगीत अध्यापक टिंकू कुमार प्रजापती, रिंकू म्यूजीकल ग्रुप फाजिल्का, अमित शर्मा, गायक पप्पी पारस, गायिका अनूष्का कक्कड़, अनिरुद्ध शर्मा, कुनाल सेठी, पूरव गांधी, समरजीत धवन, गोपी अटवाल, लोक गायक राणा मान आदि ने गहरा दुख प्रकट किया है। संगीतकार मनजिन्दर तनेजा फाजिल्का ने कहा कि लता मंगेशकर की मौत के साथ जो कमी पैदा हुई वह कभी भी पूरा नहीं की जा सकती।

- Advertisement -